Guru Ke Bag


Guru Ke Bag – गुरु के बाग ( सिख धर्म )

सिख धर्म में गुरु कार्य (सेवा, संगत, लंगर) में उपयोग आने वाले धर्म स्थल के पास स्थित वृक्ष समूहों को गुरु के बाग कहा जाता है। गुरु के बाग आज भी बहुत प्रसिद्ध हैं। अमृतसर में ऐरोड्रम रोड पर स्थित ‘गुरु के बाग’ जिसके बारे में कहा जाता है कि लड़ाई के समय सिख सैनिकों का जो लंगर चलता था उसमें विविध आवश्यकताओं की पूर्ति इस बाग से होती थी। सिख धर्म में गुरु द्वारों, सरॉय, कुँओं व सरोवरों के निकट विविध प्रकार से उपयोगी वृक्षों के रोपण की परम्परा रही है। स्वयं गुरु साहिब वृक्षों की छाया में बैठकर सेवा कार्यों की देख- रेख करते, दीवान लगा उपदेश देते, भजन कीर्तन गायन का आनन्द लेते थे।